Indian Temple: भारत के ये 6 मंदिर और देवस्थान; जहां आपको एक बात तो जरूर जाना चाहिए

Indian Temple: वैसे मंदिरों का नाम आते ही हमारे दिमाग में वाराणसी, ऋषिकेश, हरिद्वार जैसे शहरों का नाम आता है, लेकिन हम आपके लिए भारत के ऐसे पांच मंदिर और धर्म स्थल लेकर आएं, जिन्हें आपको एक बार को जरूर देखना चाहिए।

Indian Temple: भारत को मंदिर पर्यटन यानी धार्मिक पर्यटन के लिए भी जाना जाता है। भारत की एक खास बात और भी है कि यहां इतने धर्म और जातियां कि सभी के धर्म स्थलों के बारे में जानकारी करना और देना एक तरह से असंभव है। वैसे मंदिरों का नाम आते ही हमारे दिमाग में वाराणसी, ऋषिकेश, हरिद्वार जैसे शहरों का नाम आता है, लेकिन हम आपके लिए भारत के ऐसे पांच मंदिर और धर्म स्थल लेकर आएं, जिन्हें आपको एक बार को जरूर देखना चाहिए।

स्वर्ण मंदिर (अमृतसर, पंजाब)

पंजाव के अमृतसर स्थित पुराने शहर में विश्व विख्यात स्वर्ण मंदिर है। इसे श्री हरमंदिर साहिब के नाम से भी जाना जाता है। यह सिखों के लिए सबसे पवित्र गुरुद्वारा है। श्री हरमंदिर साहिब में पवित्र पुस्तक आदि ग्रंथ है, जिसे गुरु ग्रंथ साहिब के नाम से जाना जाता है। अमृतसर का नाम अमृत सरोवर, पवित्र मानव निर्मित झील के नाम पर रखा गया है।

तिरुपति (आंध्र प्रदेश)

आंध्र प्रदेश के तिरुपति में श्री वेंकटेश्वर मंदिर है। यह मंदिर तिरुमाला हिल्स की सात चोटियों में से एक के शीर्ष पर स्थित है। श्री वेंकटेश्वर मंदिर भारत के सबसे प्रमुख वैष्णव मंदिरों में से एक है। मंदिर के मुख्य देवता भगवान वेंकटेश्वर हैं, जो विष्णु के अवतार हैं। श्री कपिलेश्वर स्वामी मंदिर बहुत दूर नहीं है, जो हिंदू भगवान शिव को समर्पित है।

बेलूर (कर्नाटक)

ये मंदिर कर्नाटक में हासन जिले के बेलूर में स्थित है। यहां प्रसिद्ध चेन्नाकेशव मंदिर स्थित है। मंदिर हिंदू भगवान विष्णु को समर्पित है। वैष्णववाद का पालन करने वालों के लिए यह मंदिर एक विशेष महत्व रखता है। मंदिर तीर्थ यात्रा का एक महत्वपूर्ण केंद्र भी है। हालांकि ये मंदिर काफी प्राचीन होने के बाद भी अभी तक यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल शामिल नहीं है, लेकिन यह प्रस्तावित किया गया है।

मोढेरा (गुजरात)

गुजरात के मेहसाणा जिले में मोढेरा के एक छोटे से गांव में मोढेरा सूर्य मंदिर स्थित है। यह भारत में केवल दो सूर्य मंदिरों में से एक है। दूसरा ओडिशा में कोणार्क सूर्य मंदिर है। यह मंदिर सूर्य देवता को समर्पित है। यह प्राचीन मंदिर चालुक्य वंश के भीम प्रथम के शासनकाल के दौरान 1026-27 सीई में बनाया गया था। भले ही अब इस मंदिर में प्रार्थना अनुष्ठान नहीं किए जाते हैं, फिर भी कोई मंदिर जा सकता है। मंदिर एएसआई (भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण) के तहत एक संरक्षित स्मारक है।

पुष्कर (राजस्थान)

क्या आप जानते हैं कि पुष्कर हिंदुओं और सिखों दोनों के लिए एक महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल है? राजस्थान के अजमेर जिले में स्थित पुष्कर में भगवान ब्रह्मा को समर्पित दुनिया का एकमात्र मंदिर है। शहर के ठीक मध्य में पुष्कर झील है। जहां तीर्थयात्री पवित्र डुबकी लगाते हैं। इसके अलावा सिख समुदाय के लिए शहर में गुरु नानक और गुरु गोबिंद सिंह को समर्पित कई महत्वपूर्ण गुरुद्वारे हैं।

धर्म और ज्योतिष की खबरों के लिए यहां क्लिक करेंः-

- Advertisement -