Chaitra Purnima: चैत्र पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी को लगाए इन चीजों का भोग, हो जाएंगे मालामाल

Chaitra Purnima: चैत्र पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी की पूजा करनी चाहिए.यह दिन हिंदू धर्म के लिए बेहद खास होता है. इस दिन मां लक्ष्मी का पूरे नियम से पूजा करना चाहिए.

Chaitra Purnima: शास्त्रों और पुराणों में चैत्र पूर्णिमा के बारे में वर्णन किया गया है. पृथ्वी को जल प्रलय से बचने के लिए चैत्र पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु ने मत्स्य अवतार को धारण किया था. इसी पुण्यतिथि को भगवान शिव ने अपने दसवें अंश के रूप में हनुमान जी के रूप में अवतार लिया था. धरती को राक्षसों और दोस्तों से मुक्त करने के लिए भगवान राम चैत्र पूर्णिमा के दिन ही वनवास गए थे.

विद्याज्ञान मान सम्मान और धन संपत्ति में वृद्धि के लिए चैत्र पूर्णिमा के दिन विशेष रूप से पूजा पाठ करना चाहिए. आपको बता दे चैत्र पूर्णिमा 23 अप्रैल 2024 को पड़ रहा है और चैत्र पूर्णिमा को आप कुछ उपाय करेंगे तो आपको भगवान का आशीर्वाद प्राप्त होगा.

भगवान विष्णु को लगाए पंजीरी का भोग(Chaitra Purnima)

धार्मिक ग्रंथो के अनुसार चैत्र पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु की पूजा होती है. इस दिन भगवान विष्णु की उपासना भगवान सत्यनारायण के रूप में होती है और मान्यता है कि चैत्र पूर्णिमा को भगवान सत्यनारायण का कथा सुनने से सभी दुख दरिद्रता मिट जाते हैं. इस दिन भगवान सत्यनारायण का कथा सुनने से धन दौलत की प्राप्ति होती है और परिवार में सुख शांति बनी रहती है. इस दिन भगवान विष्णु को पंजीरी का भोग लगाना चाहिए.

Also Read:Health News: धार्मिक ही नहीं वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी पैर छूकर प्रणाम करना होता है फायदेमंद

मां लक्ष्मी को चढ़ाए मखाने का खीर

चैत्र पूर्णिमा को भगवान विष्णु के साथ मां लक्ष्मी की पूजा की जाती है और सभी प्रकार के धन दौलत की प्राप्ति होती है. इस दिन मां लक्ष्मी की पूजा करें और गाय के दूध में बने हुए मखाने का खीर का भोग लगाए. ऐसा करने से रुका हुआ धन वापस आता है और रूपए पैसे की कमी नहीं होती.

Also Read:Health News: गर्मी से पाना चाहते हैं छुटकारा तो इन चीजों को डाइट में करें शामिल, बॉडी को मिलेगी ठंडक

तमाम खबरों के लिए हमें Facebook पर लाइक करें GoogleNews Twitter Kooapp और YouTube पर फॉलो करें। Vidhan News पर विस्तार से पढ़ें ताजा-तरीन खबरें

 

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest articles