Ration Card Update: सरकार का नया नियम लागू, राशन कार्डधारकों में उठी खुशी की लहर, आप भी जानें

Ration Card Update: सरकार ने एक नया नियम लागू करके राशन कार्ड धारकों के लिए बड़ी राहत दी हैं, चलिए जानते हैं

Ration Card Update: देशभर में सरकार गरीबी के स्तर को कम करने के लिए लगातार काम कर रही हैं। इसी क्रम में आगे बढ़ते हुए राशन कार्ड से खाद्यान्न लेने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी है। आपको बता दें कि मोदी सरकार की वन नेशन वन राशन कार्ड की योजना पूरे देश में लागू हो गई है और इसके बाद सभी दुकानों पर ऑनलाइन इलेक्ट्रानिक प्वाइंट आफ सेल यानी पीओएस डिवाइस को बेहद जरूरी किया गया है। जिससे राशन लेने वालों में खुशी की लहर उठ गई है।

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून (National Food Security Law) के तहत  कार्ड धारको को सही मात्रा में खाद्यान्न मिल जाए इसके लिए सरकार ने राशन की दुकानों पर इलेक्ट्रॉनिक पॉइंट ऑफ सेल (EPOS) डिवाइस को इलेक्ट्रॉनिक तराजू से जोड़ने का हुक्म दिया है।

Ration Card: खुशखबरी! राशन कार्ड वालों के लिए सरकार का ये बड़ा ऐलान जानकर, उछल पडेंगे, 30 जून तक मिलेगा फायदा

Ration Card Update: नया नियम हुआ लागू

उचित दर की सभी दुकानों में सरकार के इस आदेश के बाद आनलाइन इलेक्ट्रानिक प्वाइंट आफ सेल यानी पीओएस डिवाइस से जोड़ दिया गया है। इसका सीधे-सीधे मतलब है कि अब राशन की तौल में कोई गड़बड़ी नहीं कर सकता हैं। पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम (PDS) के जितने भी लाभार्थी है अब उनको कम राशन नहीं मिलेगा, इसके लिए राशन डीलरों को हाइब्रिड माडल की प्वाइंट आफ सेल मशीनें दे दी गई है। सबसे बड़ी बात ये है कि आनलाइन मोड के साथ ही नेटवर्क न रहने पर ऑफलाइन भी ये मशीन काम करने में समर्थ है

क्या है नियम?

सरकार का कहना है कि यह संशोधन एनएफएसए के तहत टारगेट पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम (TPDS) के संचालन की पारदर्शिता में सुधार के माध्यम से अधिनियम की धारा 12 के तहत खाद्यान्न तौल में सुधार प्रक्रिया को और आगे बढ़ाने का एक प्रयास है।

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) के तहत सरकार देश के करीब 80 करोड़ लोगों को प्रति व्यक्ति, प्रति माह पांच किलो गेहूं और चावल (खाद्यान्न): 2-3 रुपये प्रति किलोग्राम की रियायती दर पर दे रही है।

Online Business Ideas: इन ऑनलाइन बिजनेस में बिना पैसे लगाए करें अच्‍छी कमाई

(तमाम खबरों के लिए हमें Facebook पर लाइक करेंTwitter , Kooapp और YouTube  पर फॉलो करें। Vidhan News पर विस्तार से पढ़ें ताजा-तरीन खबरें।)

 

- Advertisement -