Effects Of Trolling: सीधे दिमाग को भेदता है ‘ट्रोलिंग’ का तीर

Effects Of Trolling: साइबर बुलिंग से लेकर ट्रोलिंग ऐसे हथियार बन चुके हैं जो किसी भी व्यक्ति को मानसिक तौर पर बुरी तरह से तोड़ सकते हैं।

Effects Of Trolling:  विज्ञान के फायदे और नुकसान पर अक्सर बचपन में हमें निबंध लिखने को दिया जाता था। उस वक्त तो बड़ी आसानी से हम फायदे और नुकसान के दोनों ही पहलुओं के बारे में लिख देते थे लेकिन, वर्तमान में अगर अब हमको सोशल मीडिया को लेकर इसी मुद्दे पर लिखना पड़े तो शायद हम समझ ही नहीं पाएं कि इसके फायदे ज्यादा गिनाएं कि नुकसान।

खतरनाक हैं ये हथियार

अगर अध्ययनों पर गौर करें तो सोशल मीडिया ने व्यक्ति को मानसिक तौर पर बीमार कर दिया है। साइबर बुलिंग से लेकर ट्रोलिंग ऐसे हथियार बन चुके हैं जो किसी भी व्यक्ति को मानसिक तौर पर बुरी तरह से तोड़ सकते हैं।

गंभीर मानसिक रोग हो सकते हैं

बात करें ट्रोलिंग (Effects Of Trolling) की तो यह लोगों को मानसिक रूप से परेशान कर रहा है। एक अध्ययन में कहा गया है कि ट्रोलिंग किसी भी व्यक्ति को मानसिक तौर पर परेशान करने के अलावा उसे गंभीर मानसिक रोग का शिकार तक बना सकता है।

कार्यक्षमता घटाकर दिमाग को करता कमजोर

अध्ययनों की मानें तो ट्रोलिंग होने से व्यक्ति भीतर ही भीतर हीनता और डर का शिकार हो जाता है। उसके व्यक्तित्व पर भी बुरा असर पड़ सकता है। यही नहीं एक क्रिएटिव व्यक्ति भी इसका शिकार होने के बाद मानसिक रूप (Effects Of Trolling) से पंगु तक हो सकता है। उसका आत्मविश्वास कमजोर हो जाता है और ध्यान बुरी तरह भटक सकता है। अमेरिकन साइकोलॉजिकल एसोसिएशन की एक रिपोर्ट बताती है कि इन सब में उलझने से व्यक्ति की प्रोडक्टिविटी 40 फीसदी तक कम हो जाती है। ट्रोलिंग के शिकार व्यक्ति को सदमा भी लग सकता है जिससे उबरना उसके लिए काफी मुश्किल भी हो सकता है।

तनाव में बढ़ोतरी

ट्रोलिंग के कारण शरीर में तनाव (Effects Of Trolling) देने वाले हार्मोन कोर्टिसोल का स्राव बढ़ता है जो तनाव को और बढ़ा देता है इससे दिमाग पर भी बुरा असर पड़ता है। ऐसे में व्यक्ति की याददाश्त में कमी, नींद का चक्र गड़बड़ाना और अवसाद बढ़ने की संभावना बढ़ जाती है।

ट्रोलिंग का दबाव झेलना मुश्किल

इस मामले में कंसल्टेंट साइकोलॉजिस्ट डॉ. शोभा गर्ग कहती हैं कि ट्रोलिंग बहुत खतरनाक है। बहुत सारे लोग ट्रोलिंग का दबाव नहीं झेल पाते हैं और मानसिक रूप से परेशान होने लगते हैं। कई ट्रोलिंग ऐसी होती हैं जिसका लोगों के दिलो- दिमाग पर बहुत बुरा असर पड़ता है।

सेलिब्रिटी भी हैं परेशान

देखा गया है ट्रोलिंग का सबसे ज्यादा शिकार सेलिब्रिटी होते हैं। आमिर खान, अदनान सामी, ऋषभ पंत, रानी मुखर्जी, रणबीर कपूर,सैफ अली खान जैसे बॉलीवुड सितारे सोशल मीडिया से दूरी बना चुके हैं तो इस दूरी का बड़ा कारण ट्रोलिंग ही था। हॉलीवुड की बात करें तो एंजेलिना जोली, जेनिफर लॉरेंस, सांड्रा बुलॉक, एमिली ब्लंट, केट विंसलेट जैसे सितारे तो सोशल मीडिया से दूर ही रहते हैं।

तमाम खबरों के लिए हमें Facebook पर लाइक करेंTwitter , Kooapp और YouTube  पर फॉलो करें। Vidhan News पर विस्तार से पढ़ें ताजा-तरीन खबरें।

- Advertisement -