UP Nikay Chunav 2023: उत्तर प्रदेश में अब दौड़ेगा ‘भाजपा का तीसरा इंजन’; सपा, बसपा-कांग्रेस को लाज बचाना पड़ा भारी

UP Nikay Chunav 2023: उत्तर प्रदेश चुनाव आयोग के आंकड़ों के अनुसार, उत्तर प्रदेश के कुल 75 जिलों के 760 निकायों में 4 मई और 11 मई को दो चरणों में चुनाव हुए।

UP Nikay Chunav 2023: उत्तर प्रदेश में हाल ही में निकाय चुनाव 2023 संपन्न हुआ है। इस चुनाव को जीतने के बाद भाजपा इतनी खुश है कि सीएम योगी ने ‘ट्रिपल इंजन’ का नारा बुलंद कर दिया है। उत्तर प्रदेश में कुल 760 निकायों में हुए चुनाव में भाजपा ने सभी प्रतिद्वंद्वी पार्टिंयों का लगभग सफाया कर दिया है, लेकिन निर्दलीय प्रत्याशियों ने भी भाजपा के प्रत्याशियों को खासी टक्कर दी है।

760 निकायों में इतने थे पद

उत्तर प्रदेश चुनाव आयोग के आंकड़ों के अनुसार, उत्तर प्रदेश के कुल 75 जिलों के 760 निकायों में 4 मई और 11 मई को दो चरणों में चुनाव हुए। निकाय चुनाव में 17 नगर निगमों में मेयर के 17 पद, नगर निगम पार्षद के 1420 पद, नगर पालिका परिषद अध्यक्ष के 199 पद, नगर पालिका परिषद सदस्य के 5327, नगर पंचायत अध्यक्ष के 544 पद और नगर पालिका सदस्य के 7177 पदों पर मतदान हुआ।

भाजपा का क्लीन स्वीप

इसमें से भाजपा ने मेयर के सभी 17 पदों पर अपना कब्जा किया है। इसके अलावा पूरे प्रदेश में नगर निगम पार्षद के 813, नगर पालिका परिषद अध्यक्ष के 88, नगर पालिका परिषद सदस्य के 1360, नगर पंचायत अध्यक्ष के 191 और नगर पालिका सदस्य के 1403 पदों पर जीत हासिल की है।

निर्दलियों ने दी टक्कर

उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशियों ने भाजपा को अच्छी टक्कर दी है। हालांकि मेयर का एक भी पद निर्दलीयों के हाथ नहीं लगा है। जबकि यूपी में नगर निगम पार्षद के 206 पद, नगर पालिका परिषद अध्यक्ष के 41 पद, नगर पालिका परिषद सदस्य के 3129 पद, नगर पंचायत अध्यक्ष के 195 और नगर पालिका सदस्य के 4824 पदों पर जीते हैं।

बसपा के इतने जीते प्रत्याशी

इसके अलावा बसपा को भी इस चुनाव में कड़ी मेहनत के बाद कुछ पद हासिल हुए हैं। हालांकि मेयर का कोई भी पद बसपा की झोली में नहीं आया है। मतगणना के वक्त आगरा नगर निगम में कुछ उम्मीद जागी थी, लेकिन मतगणना के चरणों में वो भी बिखर गई। बसपा ने नगर निगम पार्षद के 85, नगर पालिका परिषद अध्यक्ष के 16, नगर पालिका परिषद सदस्य के 191, नगर पंचायत अध्यक्ष के 37 और नगर पालिका सदस्य के 215 पदों पर कब्जा किया है।

सपा ने बचाई लाग

समाजवादी पार्टी के पास मेघा कैंपेन के बाद भी मेयर का कोई पद नहीं आया है। इस चुनाव में सपा के प्रत्याशी नगर निगम पार्षद के 191, नगर पालिका परिषद अध्यक्ष के 04, नगर पालिका परिषद सदस्य के 425, नगर पंचायत अध्यक्ष के 78 और नगर पालिका सदस्य के 485 पदों पर ही जीत सके हैं।

कांग्रेस साफ

उधर कांग्रेस का पूरी तरह से सफाया हो गया है। चुनाव आयोग के मुताबिक कांग्रेस इस चुनाव में सिर्फ नगर पंचायत अध्यक्ष के 01 और नगर पालिका सदस्य के 02 पदों को ही जीत पाई है। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी इस जीत से काफी खुश हैं। उन्होंने कहा है कि वर्ष 2017 के चुनाव के मुकाबले इस बार भाजपा ने दोगुना सीटें जीते हैं। उन्होंने ट्रिपल इंजन की सरकार बनाने के लिए जनता का धन्यवाद दिया है।

बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करेंः-

- Advertisement -
- Advertisement -